सीएम खेत सुरक्षा योजना 2023: UP Mukhyamantri Khet Suraksha Yojana

UP Mukhyamantri Khet Suraksha Yojana: उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना किसान के खेत की फसल को पशुओं से बचाने के लिए शुरू किया गया है। इस योजना सोलर फेंसिंग खेतों की सुरक्षा और फसलों की सुरक्षा के लिए एक नई उम्मीद है। इसके माध्यम किसानों को खर्च की चिंता नहीं होगी और उन्हें खेतों को जानवरों से बचाने के लिए नवीनतम तकनीक का लाभ मिलेगा। इस मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना के प्रारंभ होने से किसानों के खेतों में फसल की सुरक्षा में बेहतरी होगी। आज के इस लेख में हम आपको UP Mukhyamantri Khet Suraksha Yojana से जुड़ी सभी जानकारी विस्तृत में जानकारी देने वाले हैं तो आप इस लेख को अंतिम तक अवश्य पढ़े।

UP Mukhyamantri Khet Suraksha Yojana

मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना किसान के खेत की फसल को पशुओं से बचाने के लिए सोलर फेंसिंग की योजना है। इसके तहत लगाई जाने वाली सोलर फेंसिंग की बाड़ में मात्र 12 बोल्ट का करंट प्रवाहित होगा। इससे सिर्फ पशुओं को झटका लगेगा। कोई क्षति नहीं होगी। हल्के करंट के साथ सायरन की आवाज भी होगी। इससे छुट्टा या जंगली जानवर मसलन नीलगाय, बंदर, सुअर आदि खेत में खड़ी फसल को क्षति नहीं पहुंचा सकेंगे।

इस योजना के लिए सरकार लघु-सीमांत किसानों को प्रति हेक्टेयर लागत का 60 फीसद या 1.43 लाख रुपये का अनुदान भी देगी। कृषि विभाग इस योजना का ड्राफ्ट तैयार कर चुका है। शीघ्र ही इसे कैबिनेट में भेजा जाएगा। वहां से मंजूरी मिलने के बाद अब इसे पूरे प्रदेश में लागू किया जाएगा। इसके बाद किसान इस योजना के लिए आसानी से आवेदन कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

Key Highlights Of UP Mukhyamantri Khet Suraksha Yojana

योजना का नामMukhyamantri Khet Suraksha Yojana
अन्य नामसोलर फेंसिंग योजना
राज्यउत्तर प्रदेश
किसने शुरू कीमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के खेती करने वाले किसान भाई
कब शुरू हुईजुलाई, 2023
उद्देश्यकिसानों की फसलों को आवारा जानवरों से बचाना
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लांच होगी
हेल्पलाइन नंबरजल्द लांच होगा

सीएम खेत सुरक्षा योजना के लाभ और विशेषताएं

० मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा उत्तर प्रदेश खेत सुरक्षा योजना को शुरू करने की घोषणा किया गया है।

० योजना की उपयोगिता के मद्देनजर ही सरकार ने अब इसे बुंदेलखंड के साथ पूरे प्रदेश में एक साथ लागू करने का निर्णय ले लिया है।

० इस योजना के बाबत प्रस्तावित बजट 75 करोड़ से बढ़ाकर 350 करोड़ रुपये कर दिया गया है।

० इसके लिए सरकार लघु-सीमांत किसानों को प्रति हेक्टेयर लागत 60 फीसद या 1.43 लाख रुपये का अनुदान भी देगी।

० इस योजना के तहत फसलों को जानवरों से बचाने के लिए केवल 12 वोल्ट करंट वाली सोलर फेंसिंग लगाई जाएगी।

० जल्द ही उत्तर प्रदेश खेत सुरक्षा योजना को कैबिनेट से मंजूरी प्राप्त हो जाएगी।

० कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद उत्तर प्रदेश के सभी जिले में इस योजना को चालू कर दिया जाएगा।

सीएम खेत सुरक्षा योजना के लिए जरूरी पात्रता क्या हैं

० इस योजना का लाभ केवल उत्तरप्रदेश मूल निवासी किसानों पात्र होंगे।

० इसमें भी जो किसान लघु एवं सीमांत होंगे केवल वही इस योजना के लाभ लेने के लिए पात्र हैं।

० इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक किसान के नाम पर भूमि होनी जरूरी है।

० आवेदक किसान के पास आधार से जुड़ा हुआ बैंक खाता होना अनिवार्य है।

सीएम खेत सुरक्षा योजना के लिए जरूरी दस्तावेज क्या हैं

० आधार कार्ड
० स्थाई निवास प्रमाण पत्र
० जमीन के कागजात
० बैंक खाते की पासबुक
० वार्षिक आय प्रमाण पत्र
० मोबाइल नंबर
० पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया

अगर आप सीएम खेत सुरक्षा योजना के तहत आवेदन करके सब्सिडी का लाभ उठाना चाहते हैं। तो आपको इंतजार करना होगा। क्योंकि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा अभी इस सोलर फेंसिंग योजना में यूपी के बुंदेलखंड में शुरू किया जा चुका है। जिसके बाद मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना के रूप में पूरे उत्तर प्रदेश में लागू किया जाएगा। और किसानों को लाभ प्रदान किया जाएगा। जब भी इस योजना को शुरू किया जाता है तो तुरंत ही हम आपको सब्सिडी के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया की जानकारी इस लेख के माध्यम से जानकारी प्रदान करेंगे।

Leave a comment