मुख्यमंत्री सुपोषण योजना 2023: Chhattisgarh Mukhyamantri Suposhan Yojana

Chhattisgarh Mukhyamantri Suposhan Yojana: राज्य के बच्चों को अच्छे स्वास्थ्य, बच्चों को कुपोषण से बचाने और अनेक प्रकार की सुविधाए प्रदान करने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री सुपोषण योजना की शुरुआत की है। इस योजना के माध्यम से राज्य के 6 साल की आयु वाले बच्चों को कुपोषण एवं एनीमिया से और 15 साल से लेकर 49 वर्ष की आयु की महिलाओं को एनीमिया से मुक्त कराया जाएगा।

इस योजना का लाभ 15 साल से लेकर के 49 साल की आयु की महिलाओं को भी दिया जाएगा। सरकार के द्वारा कहा गया है कि महिलाओं और बच्चों को कुपोषण से बाहर निकालने के लिइस योजना के माध्यम से पौष्टिक भोजन का वितरण करेगी। इस लेख के माध्यम से हम आपको Chhattisgarh Mukhyamantri Suposhan Yojana से संबंधित सभी जानकारी प्रदान करने वाले हैं तो आप इस लेख को अंतिम तक अवश्य पढ़े।

मुख्यमंत्री सुपोषण योजना छत्तीसगढ़ का मुख्य विवरण

योजना का नाममुख्यमंत्री सुपोषण योजना
राज्यछत्तीसगढ़
किसने शुरू कीमुख्यमंत्री भूपेश बघेल
लाभार्थीछत्तीसगढ़ के बच्चे और महिलाएं तथा किशोरिया
उद्देश्यलाभार्थी लोगों को कुपोषण से बाहर लाना
आधिकारिक वेबसाइटhttps://shuposhitchhattisgarh.cgstate.gov.in/
हेल्पलाइन नंबर1091

मुख्यमंत्री सुपोषण योजना छत्तीसगढ़ के लिए जरूरी पात्रता

० इस योजना का लाभ सिर्फ छत्तीसगढ़ के स्थाई निवासियों को ही मिलेगा।

० छत्तीसगढ़ के 3 साल से लेकर के 6 साल तक की उम्र के बच्चे इस योजना के लिए पात्र होंगे।

० योजना का लाभ 15 साल से लेकर के 49 साल की उम्र की महिलाओं और किशोरियों को भी मिलेगा।

० सिर्फ कुपोषण से पीड़ित बच्चों और माताओं अथवा महिलाओं को ही योजना का लाभ दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री सुपोषण योजना छत्तीसगढ़ के लिए जरूरी दस्तावेज

० आधार कार्ड की फोटोकॉपी
० फोन नंबर
० ईमेल आईडी
० पासपोर्ट साइज की रंगीन फोटो
० शिशु जन्म प्रमाण पत्र

मुख्यमंत्री सुपोषण योजना छत्तीसगढ़ के लिए आवेदन कैसे करें?

आप इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन नहीं कर सकते क्योंकि सरकार आपके क्षेत्र में आंगनवाड़ी केंद्र के माध्यम से यह जानकारी इकट्ठा करती है कि लाभ के लिए कौन इसके लायक है। आंगनवाड़ी केंद्र की आशा कार्यकर्ता गर्भवती महिलाओं और कुपोषित बच्चों का डेटा एकत्र करती है और इसे सरकार को भेजती है।

सरकार हर महीने आंगनवाड़ी केंद्रों को आवश्यक भोजन भेज दिया करती है। फिर आशा कार्यकर्ता गर्भवती महिलाओं और कुपोषित बच्चों को भोजन के पैकेट वितरित करती है। यदि आप योजना के बारे में अधिक जानकारी चाहते हैं तो आप अपने नजदीकी आंगनवाड़ी केंद्र के कर्मचारी या आशा कार्यकर्ता से संपर्क कर सकते है।

Leave a comment